आपने कई रहस्मयी गुफाओं बारे में सुनी और देखा होगा लेकिन आज हम आपको ऐसी गुफा के बारे में जिसके बारे में सुन कर आप हैरान हो जाएंगे। उत्तराखंड, कुमाऊं मंडल के गंगोलीहाट कस्बे में स्थित इस गुफा के बारे में कहा जाता है कि इसमें दुनिया के खत्म होने का राज छुपा है। आइए जानते है इसके बारे में कुछ और दिलचस्प बाते।

पाताल भुवनेश्वर के नाम से जानी जाने वाली यह गुफा भगवान शिव का निवास स्थान मानी जाती है। कहां जाता है कि यहां पर सभी भगवान आकर शिव जी की पूजा करते थे। गुफा के अंदर जाने पर आपको इसका कारण भी समझ में आ जाएगा।

गुफा के अंदर जाने वाले इतना संकरा है कि आपका जाना मुश्किल हो जाता है। अंदर जाते समय आपको इसकी दीवारों पर एक हंस की आकृति दिखाई देगी। लोगों का मानना है की यह ब्रह्मा जी का हंस है।

यहां पर आपको एक साथ केदारनाथ, बद्रीनाथ, अमरनाथ के दर्शन करने को मिलते है। गुफा के अंदर 33 करोड देवी देवताओं की आकृति के अलावा शेषनाग का फन नजर आएगा।

इस गुफा में बने खंभ चार युगों सतयुग, त्रेतायुग, द्वापरयुग तथा कलियुग को दर्शाते है। कलयुग खंभ की लंबाई बाकी तीन से लंबी है और इसके ऊपर छत से एक पिंड नीचे लटक रहा है, जिसमें एक गहरा रहस्य छुपा है।

हर साल यहां पर कई पर्यटक इस गुफा को देखे के लिए आते है। इस गुफा के नीचे जाकर आपको ठंडे पानी के बीच में से होकर गुजरना पड़ता है। यहां पर आप प्रकृती का भी भरपूर आंनद ले सकते है।

LEAVE A REPLY