भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज को लेकर फैन्स के बीच उत्सुकता बढ़ गई है। 17 सितंबर से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज की शुरूआत होगी। भारत की टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 वनडे और 3 टी- 20 मैच खेलेगी।

ऐसे में फैन्स के बीच इस बात को लेकर बहस तेज हो गई है क्या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में सुरेश रैना और युवराज सिंह की वापसी हो पाएगी। आपको बता दें कि टीम इंडिया मैनेजमेंट इस समय वर्ल्ड कप 2019 के मद्देनजर रणनीति के अनुसार हर सीरीज के लिए प्लानिंग कर रहा है। ऐसे में जानते हैं ऐसे 5 सीनियर खिलाड़ियों के बारे में जिन्हें शायद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में मौका मिल सकता है।

 

सुरेश रैना :-


साल 2015 अक्टूबर के बाद से सुरेश रैना की वापसी भारत की वनडे टीम में नहीं हुई है। हालांकि टी- 20 में सुरेश रैना ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच खेला था और अच्छा परफॉर्मेंस करने में सफल भी रहे थे। आईपीएल 2017 में भी रैना के बल्ले ने जलवा बिखेरा था। आपको बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ 3 टी- 20 मैचों की सीरीज में रैना ने 104 रन बनाए थे जो टी- 20 सीरीज में तीसरे ऐसे बल्लेबाज बने जिन्होंने सबसे ज्यादा रन बनाया था।
इसके अलावा रैना ने आईपीएल 2017 में 14 मैच खेलकर 442 रन बनानें में सफल भी रहे थे। यदि चयनकर्ता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में रैना के इसी पऱपॉर्मेंस के देखते हुए मौका देते हैं तो हो सकता है कि रैना नंबर 4 पर बल्लेबाजी करें।

 

युवराज सिंह :-


युवराज सिंह के बारे में कहा जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में एक बार फिर युवी की वापसी हो सकती है। वनडे में युवराज सिंह एक खतरनाक खिलाड़ी हैं इसमें कोई शक नहीं है। लेकिन युवी की फिटनेस अचानक से अब सवालों के खेरे में हैं।
विराट कोहली की टीम में यदि किसी खिलाड़ी को टीम में रहना है कि फिटनेस पर बराबर ध्यान देना होगा। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में चयनकर्ता एक और आखिरी मौका दे सकते हैं। युवी के पास 304 वनडे मैच का अनुभव है। वहीं ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत में खेलने वाली है ऐसे में युवराज सिंह का चयन यदि टीम में हुआ तो यकिनन अच्छा परफॉर्मेंस करेगें।

 

दिनेश कार्तिक :-


विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक का चुनाव एक बार फिर हो सकता है. कार्तिक एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिनके दुर्भाग्य के कारण बराबर भारतीय टीम का हिस्सा नहीं बन पाए। आपको याद हो कि घरेलू टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी 2017 में 31 साल के कार्तिक ने 9 मैच में 607 रन बनाए थे। इसके अलावा रणजी ट्रॉफी में भी दिनेश कार्तिक के बल्ले ने कमाल किया और 10 मैच में 704 रन बनाए। घरेलू क्रिकेट में शानदार परफॉर्मेंस के बाद ही दिनेश कार्तिक की वापसी भारतीय टीम में हुई थी।
हालांकि चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में कार्तिक को मौका नहीं मिला लेकिन वेस्टइंडीज दौरे में 2 वनडे मैच में दिनेश कार्तिक को खेलने का मौका मिला। श्रीलंका के खिलाफ दिनेश कार्तिक का चयन नहीं हुआ जो चौंकाने वाला था लेकिन एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए कार्तिक के चुनाव की उम्मीद बढ़ गई है।

 

अमित मिश्रा :-


लेग स्पिनर अमित मिश्रा का चयन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने की उम्मीद कम ही है। लेकिन अमित मिश्रा एक शानदार लेग स्पिनर हैं इसमें कोई शक नहीं है। यदि अश्विन जैसे स्पिनर का चयन नहीं होता है तो चयनकर्ता अमित मिश्रा की तरफ देख सकते हैं।

आपको बता दें कि पिछले साल 2016 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज में अमित मिश्रा सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के बाद से अमित मिश्रा भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं। यदि चयनकर्ता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में अमित मिश्रा का चयन करते हैं तो ये बेहद ही चौकाने वाला होगा। हालांकि अमित मिश्रा का चयन होना ना के बराबर है।

 

इशांत शर्मा :-


भारतीय तेज गेंदबाज इंशात शर्मा के चयन पर भी संशय है। इशांत शर्मा का छोटे फॉर्मेट में वापसी अधर में लटक चुका है। जिस तरह से इशांत शर्मा का करियर ढ़लान पर पहुंचा है वो किसी के लिए भी समझ से परे है। वर्ल्ड कप 2019 के लिए एक सशक्त टीम बनानें को लेकर चयनकर्ता एक और मौका इशांत शर्मा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में दे सकते हैं।

हालांकि भारत के पास इस समय बेहतरीन तेज गेंदबाजी अटैक है। ऐसे में इशांत शर्मा की वापसी की उम्मीद भी ना के बराबर है। लेकिन चयनकर्ता फैन्स को सरप्राइज कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY