28 अगस्त को बाबा राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाकर के जेल भेज दिया गया। वो जेल में बंद कर दिया गया लेकिन क्या ये वाकई में हक़ीक़त है? एक टीवी चैनल सुदर्शन न्यूज़ ने कुछ अलग ही दावा किया है। चैनल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जेल में जो राम रहीम बंद है। वो असली राम रहीम नहीं बल्कि उसका कोई हमशक्ल है, जबकि असली आपराधी बाबा राम रहीम सरकार की मदद से ही हवाई रास्ते विदेश फरार है।

इसमें ऐसा भी संभव है कि बाबा राम रहीम की सहयोगी और उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत सिंह भी उसी के साथ फरार हो गये हो। विदेश में बैठकर कानून का मखौल बनाकर के हंस रहे हो। देश की जनता किसी नकली राम रहीम को सजा पाते हुए देख कर के खुश हो रही हो।

हालांकि पब्लिक इस दावे को पूरी तरह से खारीज कर रही है और लोग उन्हें फेसबुक से लेकर ट्वीटर तक सुना रहे है।उनके इस तरह के खुलासे को बेहद ही बचकाना करार दे रहे है। लेकिन क्या 1% भी रिस्क राम रहीम जैसे अपराधी के मामले में लिया जा सकता है? कुछ लोगों ने तो मेडिकल टेस्ट करवाकर बाबा राम रहीम के असली होने के पुष्टि करवाने की भी मांग कर रहे है। लेकिन क्या इससे सरकार की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े नही होते है?


आपको बता दे कि बाबा राम रहीम पर न सिर्फ रेप के बल्कि लोगो को नपुंसक बनाने के और हत्या तक के भी बड़े-बड़े आरोप लग चुके है। जिनके चलते वो जेल में बंद है, जहां एक तरफ़ उन्ही के जेल के साथियो से इंटरव्यू किये जा रहे है। दूसरी तरफ़ एक न्यूज़ चैनल का इस तरह से आरोप लगाना परस्पर ही विरोधी बातें हैं।

LEAVE A REPLY